Subscribe

RSS Feed (xml)

Powered By

Skin Design:
Free Blogger Skins

Powered by Blogger

सुस्वागतम

आपका हार्दिक स्वागत है, आपको यह चिट्ठा कैसा लगा? अपनी बहूमूल्य राय से हमें जरूर अवगत करावें,धन्यवाद।

January 22, 2008

मात्र झलक

 

 

कल युनुस जी के निमंत्रण पर हम पति समेत विविध भारती के  स्टुडिओ पहुंचे थे, हमारे अलावा बोधीस्तव और आभा जी और दो और जोड़े वहां पहुंचे थे। विविध भारती की पचासवीं वर्षगांठ के अवसर पर विविध भारती  कई खास कार्यक्रमों का आयोजन कर रही है, पिछ्ले महीने आय आय टी के छात्रों के साथ एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया था और इस महीने प्रेम और दांपत्य जीवन पर विशेष कार्यक्रम करने का आयोजन था। कुल चार जोड़े आमंत्रित थे, शायद उम्र के हिसाब से। एक जोड़ा 70 -74 साल का, फ़िर हम 50-55 तक, फ़िर बोधिस्तव जी का जोड़ा 40 -44 तक और तीसरा जोड़ा 20-30 साल तक का जो अभी भी विवाह बंधन में बंधने के लिए माता पिता की सहमति का इंतजार कर रहे हैं। प्रोग्राम कुछ कुछ मौज मस्ती की प्रतियोगिता के रुप में था, सुधीर दलवी(शिरडी के सांई बाबा में सांई बाबा की भूमिका निभाने वाले) और हिमानी शिवपुरी(कुछ कुछ होता है में हॉस्टल के मैट्रन का रोल निभाने वाली) जज थे। उम्र के अलावा चारों जोड़े अलग अलग प्रांतों से- सबसे प्रौढ़ जोड़ा गुजरात से, हमारा जोड़ा पंजाब और केरला का मिश्रण, बोधिस्तव जी का जोड़ा उत्तर प्रदेश से, और सबसे युवा जोड़ा महाराष्ट्र से।

प्रोग्राम के सूत्रधार थे युनुस जी और ममता जी( ये भी एक जोड़ा अपनी अस्ली जिन्दगी में)।

प्रोग्राम बहुत मजेदार रहा, करीब 3 बजे से रात के साढ़े सात बजे तक रिकॉर्डिग हुई। शादी से पहले से लेकर आज तक की दांपत्य जीवन पर अनेक सवाल, कुछ के जवाब पहले ही एक फ़ार्म पर भरवा लिए गये थे और फ़िर मिला कर देखा जा रहा था कि हम एक दूसरे के बारे में कितना जानते  हैं। पांच इनाम रखे गये थे सिर्फ़ मौज के लिए- बेस्ट जोड़ा, बेस्ट पति, बेस्ट पत्नी, बेस्ट प्रेमी, बेस्ट प्रेमिका।

बेस्ट जोड़े का इनाम तो सबसे प्रौढ़ जोड़े को मिलना चाहिए इस में किसी की दो राय नहीं थी। वो जोड़ा ऐसा जोड़ा था जिन्हों ने शादी पहले की और प्रेम बाद में, ठ्क्कर जी  जब पूछा गया कि अगर उनकी शादी उनकी पत्नी से न हो पाती तो क्या वो जान पर खेल जाते, उन्होंने कहा अगर हम  शादी से इन्कार कर देते तो हमारे घरवालों की जान पर बन आती क्योंकि लड़की  तो घर वालों ने ही पंसद की  थी। ये जोड़ा शादी की शायद 40वीं साल गिरह मना चुका है। सुन कर बहुत अच्छा लगा कि आज से 40 साल पहले भी वो न सिर्फ़ लड़की को देखने गये बल्कि उसके साथ 8 दिन घूमे भी, भावी पत्नी के लिए गीत भी गाए। हमें तो लगा था कि उस जमाने में लड़का लड़की एक दूसरे को शादी के बाद ही देख पाते थे।

बोधिस्तव जी से पूछा गया कि आभा जी के जूते का नंबर क्या है तो बोले छ: जबकी आभा जी ने लिखा था पांच, गलत जवाब, अब बोधी जी थोड़ा खिसिया गये, तुंरत बोले नहीं बाटा का छ: और वुडलैंड का पांच। हा हा हा….… आभा जी के वजन में भी गड़बड़ा गये (उठाने की प्रेक्टिस छूट गयी लगती है…।:))

एक जवाब जो सब पतिदेव ठीक से दे सके, वो था पत्नी का मनपंसद हीरो, हमें भी सुन कर आश्चर्य हुआ कि सबसे छोटी भावी पत्नी से लेकर सबसे प्रौढ़ पत्नी तक सब का एक ही जवाब था- अमिताभ बच्चन। ऐसा क्या है अमिताभ में, उस पर फ़िर कभी चर्चा करेंगें।

हां बोधी जी और हमारे पतिदेव की मनपंसद हिरोइन एक ही थी- वहिदा रहमान्।

बेस्ट प्रेमी और प्रेमिका का खिताब तो सबसे युवा जोड़े को मिलना ही था जिनकी अभी शादी नहीं हुई, बाकी बचे थे बेस्ट पति और बेस्ट पत्नी का खिताब, तो बेस्ट पति का खिताब मिला विनोद जी को (मेरे पतिदेव) और बेस्ट पत्नी का खिताब मिला आभा जी को……:)

और भी बहुत कुछ था लेकिन मैं सब बता दूंगी तो आप सुनेंगें क्या? 3 फ़रवरी को दोपहर 2।30 बजे से शाम 5।30 तक सुनिए न मजेदार नौंक झौंक विविध भारती पर्। ये तो  मात्र झलक है।

और हां,  कल कई  और यादें ताजा हुईं तो वो भी आप के साथ बांट रही हूं लेकिन दूसरी पोस्ट के रूप में। आशा है की आप उसे भी झेल ही लेंगें।  

15 comments:

Dr.Parveen Chopra said...

मैडम, जब आप के द्वारा प्रस्तुत किया गया ट्रेलर ही इतना बढ़िया है तो 3फरवरी को प्रसारित होने वाले प्रोग्राम की इंतज़ार तो अभी ही से शुरू कर दी है।

Sanjeet Tripathi said...

वाह वाह क्या बात है।
यह तो बढ़िया रही, आप सब अपने पुराने दिनों में डूब गए होंगे।
मस्त माहौल रहा होगा जैसा कि आपने लिखा ही है।

तो आप बोधिसत्व जी और आभा जी से भी मिल लीं मतलब कि ऐसे ब्लॉगर्स की गिनती बढ़ते जा रही है जिनसे आप मिल चुकी हैं।
गुड है जी।
सुनेंगे रेडियो पर भी पूरा।

Dard Hindustani (पंकज अवधिया) said...

हमारी माताजी विविध भारती सुनती है और आपको भी पढती है। उनको बता दूंगा। अभी वे एक नये कहानी संग्रह के प्रकाशन मे जुटी है, प्रथम संग्रह सहमे-सहमे दर्द के बाद।

Lavanyam - Antarman said...

Anita ji,
Badjiya prog. ki jhalak dikhlayee --
Ab
asha hai, Prog. ka MP3 link bhee
post hoga --
Hum jaison ke liye --
Jo Vividh Bharti sun nahee pate -
Sa sneh,
Lavanya

Gyandutt Pandey said...

यह देख कर विस्मय होता है कि ब्लॉगिन्ग आपको किस किस प्रकार की रोचक कृतियों से जोड़ता है। कल फोन पर बोधिस्त्त्व जी इस कार्यक्रम के विषय में कह रहे थे तो ज्यादा समझ में नहीं आ रहा था। आपकी इस पोस्ट से स्पष्ट हुआ।
मेरे ख्याल से हिन्दी ब्लॉगिग करने का आप अपना बही खाता बनायें तो + वाले खाते में रखने के लिये बहुत कुछ मिल जायेगा। नहीं?

PD said...

अनिता जी, मेरा रेडियो खराब चल रहा है.. उम्मीद करता हूं कि 3 से पह्ले ठीक हो जायेगा..
नहीं हुआ तो आपके ब्लौग के सहारे ही जीना परेगा.. :(

Raviratlami said...

यूनुस जी, यदि विविध भारती को आपत्ति न हो तो इसकी रेकॉर्डिंग कर मैं इसे पॉडकास्ट के रूप में डाल सकता हूँ. क़पया बताएँ.

सागर नाहर said...

अपना भी रेडियो खराब है, मैं रविजी से अनुरोध करता हूँ कि इसे पोडकास्ट के रूप में जरूर पोस्ट करें।
विविध भारती को क्या परेशानी होगी, इससे पहले मैने लताजी- रेडियो सखी ममताजी का इन्टर्व्यू पोस्ट किया ही है।

Shiv Kumar Mishra said...

बहुत बढ़िया वर्णन. बहुत खुशी हुई यह जानकर कि आपलोग इतने बढ़िया कार्यक्रम का हिसा बने. आनेवाली पोस्ट में सम्पूर्ण वर्णन (टीका सहित) का इंतजार रहेगा..........:-)

Kakesh said...

ब्लॉग के बाद रेडियो में भी छाने के लिये धन्यवाद.

तीन तीन ब्लॉग जोड़े ..वाह वाह है जी...बांकी दो जोड़ों को भी ब्लॉगिंग सिखा दी होती.

yunus said...

अनीता जी अच्‍छा लगा । हम तो उस आयोजन के खुमार और थकान में ही थे । कि कल अचानक संगीतकार जोड़ी विशाल शेखर से इंटरव्‍यू फिक्‍स हो गया और हम दिन भर के लिए निकल लिए उनके स्‍टूडियो में । इसलिए ज़रा यहां देर से आए हैं । रवि जी कोई दिक्‍कत नहीं है । मैं अलग से मेल कर रहा हूं । वैसे रेडियोनामा पर पोस्‍ट तो लिखूंगा ही इसके बारे में पर यहां भी सबसे निवेदन है कि इस कार्यक्रम को जरूर सुनें । इन दिनों हम इसका पोस्‍ट प्रोडक्‍शन करते हुए भी खूब हंस मुस्‍कुरा रहे हैं । जरूर सुनिएगा । अनीता जी धन्‍यवाद ।

anuradha srivastav said...

अनिता जी इन्तजार रहेगा आपकी अगली पोस्ट का.....

अनूप शुक्ल said...

बड़ा शानदार च जानदार विवरण दे दिया जो कि मजेदार भी है। आपके घर में बेस्ट पति का इनाम आया इसकी बधाई। बोधिजी की पत्नी बेस्ट हैं यह भी उनके लिये बधाई की बात है।

अजित वडनेरकर said...

मज़ेदार विवरण। अच्छा लगा आपके अनुभव जानकर । सुना जाएगा।

Rajesh said...

Really Anitaji, ab aap kahan kahan chha rahi hai. Pahle blog per entry hui, uske baad aap Best Bloger ban gayi. Aur ab VIVIDH BHARTI - one of the best and entertaining radio prasaran, which people still love today in the era of television. I at Delhi will not be able to listen to the Mumbai Vividh Bharti and hope you will be able to manage the casting of the video recording thru one of your blogs. And CONGRATULATIONS to you for VINODJI, to become BEST PATIDEV. Ab Vinodji se sikhna padega ki best patidev kaise ban paye hai taki hum jaise baki patiyon ki patniyan bhi Anitaji ke jaise khush rah sake.........